Friday, 13 March 2020

शैतान ने कुछ नहीं किया सिर्फ थोड़ा सा रस लगा दिया

शैतान का शीरा (रस) का किस्सा story.

Interesting article in hindi

जिस का एक कहानी है कि शैतान से किसी ने कहा कि मियाँ तुम बड़े फसाद करते हो कश्त व खून करा देते हो, घर के घर बर्बाद करा देते हो-
Interesting articles in hindi

शैतान ने कहा की मुझे मुफ्त में बदनाम कर रखा है मैं तो कुछ नहीं करता चलो मैं तुम्हें नमूना दिखलाऊँ- हलवाई के दूकान पर पहुंचे, शैतान ने एक ऊँगली भर शीरा (रस) दीवार पर लगा दिया इस शीरा पर मखियाँ आ बैठीं इन मखियों पर छिपकिली आ गई अचानक से दुकानदार की की बिल्ली आ गई वह छिपकिली पर दौड़ी एक खरीदार सवार के साथ कुत्ता था वह बिल्ली पर छपटा हलवाई ने गुस्से में आ कर एक पत्थर उस कुत्ते के मार दिया उस कुत्ते के मालिक यानी सवार को भी गुस्सा आ गया उस ने हलवाई के एक तलवार मार दी बाजार वालों ने जमा हो कर इस सवार को क़त्ल कर दिया फ़ौज में खबर हो गई उन्हों ने बाजार वालों का क़त्ल ए आम शुरू कर दिया, शैतान ने कहा देखा, इन्साफ से कहए मेरा क़ुसूर! मैं ने तो एक उंगली पर शीरा दीवार पर लगा दिया था और शीरा (रस) लगाना कोई जुर्म नहीं और कहानी में तो एक उंगली ही भर शीरा (रस) था जिस का तौल यहां तक खींचा-

नोट : अगर पोस्ट अच्छा लगा तो अपने Facebook WhatsApp Twitter Instagram पर शेयर ज़रूर ज़रूर करें

No comments:

Post a comment