Friday, 28 February 2020

यही बादशाही है interesting article

यही बादशाही है

Interesting article in hindi
Interesting article

Interesting article in hindi
Interesting article

एक मर्तबा की बात है कि हज़रत इब्राहीम इब्न अदहम (रहमतुल्लाहि अलैह) जो अपने वक़्त के बादशाह गुज़रे हैं बाद में उन्हों ने फक़ीरी अपना लिए थे. वह दरिया के किनारे पर बैठे अपनी गुदड़ी सी रहे थे - चूंकि आप एक साम्राज्य के राजा थे और सब कुछ छोड़ छाड़ कर दरवेशाना ज़िन्दगी गुज़ार रहे थे अचानक वहां से एक वाज़ीर का गुज़र हुआ उस ने जो हज़रत इब्रहिम इब्न अदहम को इस हालत में देखा तो दिल में बड़ी आश्चर्य किया और कहने लगा, कितना बड़ा साम्राज्य के राजा हैं और फक़ीरी अपना रखा है बादशाह हो कर फ़क़ीरों की तरह गुदड़ी सी रहे हैं जबकि इधर उन के न होने से साम्राज्य बर्बाद हुई जा रही है- हज़रत इब्राहीम इब्न अदहम (रहमतुल्लाहि अलैह) ने कश्फ के ज़रिये से उस के दिल की बात मालूम कर ली और उस अपने क़रीब बुलाया- वह वज़ीर आप के क़रीब आया तो आप ने उस से कहा, तूने अपने समझ के अनुसार बात की है - उस के बाद आप ने अपनी सूई दरिया में फेंक दी और फिर ज़ोर आवाज़ से पुकारा कि मेरी सूई मुझे दो- अचानक दरिया के अंदर से हज़ारों मछलियां अपने अपने मुँह में सोने की सूई दबाए हुए पानी से बाहर निकलीं- हज़रत इब्राहीम इब्न अदहम (रहमतुल्लाहि अलैह) ने फिर आवाज़ दी, ऐ अल्लाह ! मुझे सिर्फ मेरी सुई चाहए उसी वक़्त एक दूसरी मछली बर आमद हुई जिस के मुंह में हज़रत इब्राहीम इब्न अदहम (रहमतुल्लाहि अलैह) की सूई थी आप ने सूई उस मछली से ले ली-
Interesting article in Hindi
Interesting article in Hindi

इस के बाद आप ने उस वज़ीर की तरफ धियान देते हुए कहा कि यह बादशाही अच्छी है या वह( हक़ीर) नीच राज्य की राज्य- फिर खुद ही फरमाया, यक़ीनन यह बादशाही हक़ीक़ी (वास्तविक) बादशाही है और सब से अछि है- यह सुन कर एयर देख कर वज़ीर ने क्षमा की और अपनी राह चल दिया-

नोट : अगर आर्टिकल अच्छा लगा तो शेयर जरुर करें अपने Facebook WhatsApp Twitter Instagram पर

No comments:

Post a comment