Breaking

Saturday, 18 May 2019

जिन वजहों (कारण) से रोज़ा तोड़ देना जायज़ है उन के बारे में ज़रूरी बातें

जिन वजहों (कारण) से रोज़ा तोड़ देना जायज़ है उन के बारे में ज़रूरी बातें

मसअलह 1
अचानक ऐसी बीमार पड़ गई कि अगर रोज़ा न तोड़ेगा तो जान पर बन आएगा या बीमारी बहुत बढ़ जाएगी तो रोज़ा तोड़ देना दुरुस्त है जैसे दफअतन (किसी दफा) पेट में ऐसा दर्द उठा कि बेताब हो गया या साँप ने काट खाया तो दवा पी लेना और रोज़ा तोड़ देना दुरुस्त है ऐसे ही अगर ऐसी प्यास लगा कि हलाकत का डर है तो भी रोज़ा तोड़ डालना दुरुस्त है-
मसअलह 2
हामला (गर्भवती Pregnant) औरत को कोई ऐसी बात पेश आ गई जिस से अपनी जान का या बच्चा की जान का डर है तो रोज़ा तोड़ डालना दुरुस्त है-
मसअलह 3
खाना पकाने की वजह से बेहद प्यास लग आई और इतनी बेताबी हो गई कि अब जान का खौफ (डर) है तो रोज़ा तोड़ देना दुरुस्त है- लेकिन अगर खुद उसने क़सदण (इरादा) से इतना काम किया जिस से ऐसी हालत हो गई तो गुनहगार होगी-

मेहरबानी कर के हमारे इस पोस्ट को शेयर करें हमारी website को फॉलो करें शुक्रिया 

No comments:

Post a Comment